Posts tagged ‘Sanyam’

फ़रवरी 21, 2015

भूखा आदमी और ईश्वर

भूखे नेbhookh
ईश्वर से रोटी मांगी
ईश्वर ने कहा
पहले स्तुति गाओ
भूखे ने
गायी
ध्यान भूख में रहा
ईश्वर ने कहा
पापी हो तुम
भूखे ने सुना ईश्वर का कटाक्ष


ईश्वर ने फिर कहा
यही है तुम्हारे दुखो का कारण
इसीलिए भूख तुम्हारी नियति है


भूखे ने कहा
हमारा संयम हमारी भूख का कारण है ईश्वर
ईश्वर ने आँखे तरेरी
बोले अदब से बात करो
भूखे की इतनी हिम्मत!


भूखे ने डाल दिया ईश्वर की गर्दन पर हाथ
बोला
भूखा हिम्मत ही करता
तो ना तुम ईश्वर होते
ना मैं भूखा

(संकलन साभार – Arvind Thalor)

मार्च 21, 2013

तब तुम मुझको याद करोगे…

अभी तुम्हारा ध्यान कहीं है

पीड़ा का अनुमान नहीं है

जिस दिन ठोकर लग जायेगी

उस दिन तुम फ़रियाद करोगे

तब तुम मुझको याद करोगे…

बालू की दीवार खड़ा कर

ताशों के तुम महल बना कर

अपने दिल की इस बस्ती को

जिस दिन तुम खुद बर्बाद करोगे

तब तुम मुझको याद करोगे…

मैं संयम का नहीं पुजारी

लंगडी नैतिकता लाचारी

मुझ बैरागी का दुनिया में

अनुरागी जब नाम धरोगे

तब तुम मुझको याद करोगे…

देखो तुम्हे बता देता हूँ

मैं सबको अपना लेता हूँ

सच कहता हूँ रुक न सकूंगा

जिस दिन लंबी सांस भरोगे

तब तुम मुझको याद करोगे…

सीता राम रटा डाला है

पंखों पर भी ताला जड़ा है

पिंजरे के पंछी को आखिर

एक दिन तो आज़ाद करोगे

तब तुम मुझको याद करोगे…

{कृष्ण बिहारी}

%d bloggers like this: