Posts tagged ‘Rajmohan Gandhi’

अप्रैल 3, 2014

“आप” डायरी (3 अप्रैल 2014) : मेनिफेस्टो, जनसभाएं, ईवीएम में गडबडी

AAP manifestoआम आदमी पार्टी (आप) ने 3 अप्रैल 2014 को लोकसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र (मेनिफेस्टो) जारी कर दिया [आप” का मेनिफेस्टो यहाँ पढ़ें| दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय “आप” ने 70 विधानसभा क्षेत्रों के लिए अलग-अलग घोषणापत्र जारी किये थे जिनके बहुत सारे अंश बाद में भाजपा ने भी कॉपी किये| भारत में केन्द्र की राजनीति में प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने अभी तक अपना चुनावी घोषणापत्र जारी नहीं किया है और ऐसा बताया गया है कि भाजपा 7 अप्रैल को अपना घोस्नापत्र जारी करेगी| गौरतलब है कि उसी दिन लोकसभा चुनाव का पहला चरण शुरू है और देश के कई हिस्सों में मतदान होगा| इसका अर्थ यह भी कि इन् क्षेत्रों से भाजपा को कोई सरोकार नहीं है वरना पहले ही अपना घोषणापत्र जारी कर देती जिससे कि उस दिन मतदान करने वाले भारतीय भी उसका घोषणापत्र देख लेते और उस पर विचार कर लेते|

अब अगर भाजपा के घोषणापत्र में “आप” के घोषणापत्र से मिलती जुलती बातें मिलती हैं या उनके बिंदुओं की खास काट मिलती है तो यह निश्चित हो जाएगा कि भाजपा केवल “आप” के घोषणापत्र का इंतजार कर रही थी| मुख्य विपक्षी दल होने के नाते और अपना प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा महीनों पहले करने वाले दल को मेनिफेस्टो जारी करने की फुर्सत नहीं मिली यह बात पचती नहीं| या तो भाजपा मेनिफेस्टो को महत्वपूर्ण समझती ही नहीं या उसका भी यही ख्याल है कि मेनिफेस्टो को पढता कौन है? कांग्रेस और भी बड़ी गुनाहगार है इस मामले में क्योंकि आजादी के बाद वही सबसे ज्यादा सत्ता में रही है और उसने भी अपना मेनिफेस्टो कुछ ही दिन पहले जारी किया है|

EVMअसम में ईवीएम की जांच के दौरान पाया गया कि किसी भी पार्टी के उम्मीदवार के लिए मत डालने के लिए बटन दबाया गया पर मत जाकर दर्ज हुआ सिर्फ भाजपा के खाते में! कुछ अरसा पहले एक खबर छपी थी जिसे शायद दबा दिया गया कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ संभव हो सकती है और जिस तरह की तकनीकी खराबी असम वाले मामले में देखी गई है ऐसी ही संभावना का जिक्र उस खबर में था|

क्या लोकतंत्र के पीने के पानी में मिलावट हो गयी है? सीवर का पाइप अपने आप फटा है या इसे फाड़ने वाले हर सरकारी तंत्र में घुस चुके हैं? चुनाव आयोग यदि सोया रह गया तो लोकतंत्र के खात्मे के बाद उसके कर्मचारियों को को हो सकता है नगर पालिका में स्थान्तरित कर दिया जाए|

बीते दिन 2 अप्रैल को आज-तक चैनल ने स्टिंग करके खुलासा किया था कि बहुत बड़ी संख्या में नकली मतदाता पत्र बनाए गये हैं और विशेषज्ञों का कहना था कि 40% तक नकली मत पत्र बने हो सकते हैं| शरद पवार ने तो यह कहकर अपने कथन से पल्ला झाड लिया कि उन्होंने मजाक में कहा था कि वोट देने के बाद उंगली पर लगी स्याही मिटा कर दूसरी जगह जाकर वोट दे आना, पर स्टिंग में साफ़ तौर पर दिखाया गया कि कैसे दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान स्याही का दाग मिटाने वाला ५-५ किलो कैमिकल एक सप्लायर ने कांग्रेस और भाजपा दोनों को दिया| क्या दिल्ली विधानसभा के दौरान ट्रक भर कर कुछ बूथों पर शाम पांच बजे के आसपास पहुंचे मतदाताओं और इस स्टिंग के बीच कोई संबंध है? ऐसा कहा गया है कि जहां भी देर रात तक वोटिंग हुयी वहीं से “आप” के कुछ उम्मीदवार दो हजार से भी कम मतों से हारे|AAP_Delhi2

“आप” को घेर कर खत्म कर देने की ऐसी साजिशों के बीच “आप” का चुनाव प्रचार बदस्तूर जारी है और अरविंद केजरीवाल खुद दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं पिछले दो दिन से और वे सातों लोकसभा क्षेत्रों में रोड शो और जनसभाएं करेंगे| अपेक्षित रूप से जहां भी वे जा रहे हैं अथाह भीड़ उनके साथ चलने के लिए इकट्ठी हो जाती है|

त्रिलोकपुरी में अरविंद केजरीवाल ने राजमोहन गांधी के लिए जनसभा की|

भारत के हर उस क्षेत्र जहां से “आप” के उम्मीदवार खड़े हैं जनता का बड़ा तबका उनसे जुडता जा रहा हैं|

इंदौर में वहाँ के प्रत्याशी अनिल त्रिवेदी के रोड शो का नजारा कम दिलचस्प नहीं|

AAP_Indoreइंदौर मेंअरविंद केजरीवाल ने गुजरात दौरे के बाद नरेंद्र मोदी से 17 सवाल पूछे थे| गुजरात सरकार ने कई दिन बाद 16 सवालों के जवाब दिए| अरविंद केजरीवाल के सवालों के बाद गुजरात सरकार की वेबसाईट से तथ्य एबम आंकड़े हटा दिए गये और हवाला दिया गया चुनाव की वजह से हटाये गएँ हैं|

AK tweet

अरविंद केजरीवाल और “आप” को पानी पी पे कोस रहे भाजपाइयों को यह बात हजम न हो पाए कि बस कुछ ही बरस पहले नरेंद्र मोदी ट्विट के जरिये अरविंद केजरीवाल के भ्रष्टाचार की मुहीम को समर्थन देने की अपील कर रहे थे |

Modi@AK

4 अप्रैल को ही ABP चैनल पर अभिनेता आमिर खान ने ऐसे उमीदवारों की बात की जिन पर अपराध के गंभीर आरोप हैं| और दलों ने तो साँस नहीं लिया सुधार के नाम पर “आप” के मनीष सिसोदिया ने कार्यक्रम में ही घोषणा कर दी कि “आप” दो दागी उम्मीदवारों के टिकट वापिस ले रही है और बाकी 5-6 के ऊपर जांच के बाद यथोचित कार्यवाही होगी|

http://www.dailymotion.com/video/x1lmcbt_asar-with-aamir-khan-3rd-april-2014-video-watch-online-pt3_people?start=2

 

भाजपा केवल टीवी कार्यक्रम में ही आएं बाएं नहीं गाने लगी दागी उम्मीदवारों के मामले पर, बल्कि कुछ अरसा पहले इसके एक पूर्व अध्यक्ष को ऑन-रिकार्ड कहते पाया गया था कि “अगर भाजपा ईमानदार उम्मीदवारों को टिकट दे दे तो एक भी सीट न मिले”| नरेंद्र मोदी ने जिस तरह से भ्रष्टाचारियों को भाजपा के अंदर से चुन कर और बाहर दूसरे दलों से आमंत्रित करके लोकसभा के टिकट बांटे हैं उससे स्पष्ट है वे किस तरह का भारत चाहते हैं और किस तरह की राजनीति उनके नियंत्रण में चलेगी|

Advertisements
मार्च 31, 2014

“आप” डायरी (30 मार्च 2014) : तस्वीरें बोलती हैं

HighCourtDelhiमीडिया “आम आदमी पार्टी” को न दिखाने, या गलत तरीके से प्रस्तुत करने की योजना पर पूरी मेहनत कर रहा है| देश भर में बहुत सी जगह “आप” का असर बढ़ता जा रहा है पर अखबार, पत्रिकाओं और टीवी चैनलों में इससे उल्ट बातें पढ़ने और देखने को मिलती हैं| दिल्ली हाई कोर्ट ने “आप” की रिट पर फैसला देते हुए कांग्रेस और भाजपा को वेदांता और Dow Chemicals द्वारा दिए गये चंदे को अवैध माना है पर किसी भी टीवी चैनल ने इस खबर को तवज्जो देना जरूरी नहीं समझा पर यही “आप” के साथ होता तो जमीन आसमान एक कर देता मीडिया|

मीडिया बनाम अरविंद केजरीवाल| मीडिया के बहुत बड़े वर्ग ने अरविंद से अदावत पाल ली है| वे इसका बहाना भी खोज रहे थे क्योंकि अरविंद उनके कब्जे में नहीं हैं जैसे अन्य पार्टियों के नेता हैं| अरविंद मीडिया को भी सरेआम कोसते हैं| लगभग हरेक मीडिया हाउस अरविंद और “आप” से जुडी ख़बरों को इस तरह से तोड़ रहा है जिससे सतही तौर पर देखने वाले को वह “आप” के खिलाफ लगे और चुनावी माहौल में इससे ज्यादा समय होता नहीं आम दर्शक के पास| वह गहराई में नहीं जाता|

एक अन्य उदाहरण से समझा जा सकता है कि मीडिया कैसे “आप” के खिलाफ तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर प्रस्तुत कर रहा है|

“आज तक” ने खबर चलाई  कि संतोष कोली के परिवार ने अरविंद पर गंभीर आरोप लगाए हैं और संतोष की ह्त्या हुयी थी| अरविंद और “आप” तो कब से कह रहे हैं कि संतोष की ह्त्या हुयी थी| और आज तक वाले साफ़ इस बात को छिपा गये कि “आप” ने संतोष कोली के भाई को दिल्ली में विधायक बनवाया|

modifordमीडिया ने अरविंद द्वारा कथित रूप से मीडिया को जेल भेजने वाले वीडियो के बाद तो अरविंद को पूरी तरह निशाने पर ले लिया है जबकि अरविंद ने उसमें कहा था [“इसकी जांच करवाएंगे और मीडिया समेत सबको जेल भेजेंगे”] इसका सीधा सा अर्थ यही है कि जो भी दोषी होगा इस फिक्सिंग में (मीडिया कर्मी और अन्य लोग- मसलन कोर्पोरेट वाले जो पैसे देकर मीडिया को खरीद रहे हैं) उन्हें जेल भेजेंगे| मीडिया कोई १००% ईमानदार तो है नहीं कि सारे मीडिया को इस आरोप पर आग बबूला होकर भारत में बदलाव लाने योग्य एक “आशा” – “आप” पर आक्रमण करके देश के साथ नाइंसाफी करने लगे| ईमानदार मीडियाकर्मियों को सामने आना जरूरी है|

२०१४ के मार्च महीने में भारत में बहुत कुछ हो गया| भारत ने आपातकाल के बाद वाले चुनावों को छोड़ कर इतनी रूचि किसी और चुनाव में नहीं ली होगी| भारत बनने और बिगड़ने के कगार पर खड़ा है| अगर “आप” को सम्मानजनक समर्थन भारत देता है तो देश में राजनीति  को स्वच्छ बनाने का कार्य आरम्भ हो जाएगा और अगर “आप” को वाजिब समर्थन नहीं मिला तो यह कार्य मुल्तवी हो जाएगा और भ्रष्टाचार के कारण सड़ चुका तंत्र फिर से देश की तकदीर स खेलता रहेगा|

मीडिया के कांग्रेस+भाजपा के साथ हाथ मिलाकर “आप” के खिलाफ माहौल बनाने के खेल के बावजूद “आम आदमी पार्टी” ने कांग्रेस और भाजपा का जीना मुश्किल कर दिया है| “आप” का दबाव इन पर न होता तो ये न इतने परेशान होते “आप” को लेकर और न इस पर रोज नाजायज हमले करते| क्या इन्हे सपा-बसपा, जद (यू), ने. का, वाम दल आदि पर ऐसे तीखे आक्रमण करते देखा है? दस साल पहले भाजपा पूरी ताकत कांग्रेस और वाम दलों के खिलाफ लगाती थी और कांग्रेस इन् दोनों के खिलाफ, पर आज दोनों बड़ी पार्टियां अपनी अपनी पूरी ताकत “आप” के खिलाफ लगा रही है| राजनीति को पढ़ने -समझने वाले खुद ही देख सकते हैं देश किसकी ओर ज्यादा झुका हुआ है| और यही तकलीफ है कांग्रेस-भाजपा की कि “आप” के पास न धन है, न सत्ता का अनुभव फिर भी ये कैसे देश भर में भीड़ जुटा रहे हैं, लोग अपने पैसे खर्च करके इनकी रैलियों में भागे जा रहे हैं| नीचे दिए वीडियो में फरीदाबाद की रैली में उमड़े जनसमूह का नाद देखा जा सकता है|

भाजपा के लोग “आप” के लोगों पर हर जगह हमले कर रहे हैं, चाहे जगह मोहल्ला सभाएं हों या टीवी स्टूडियो| नीचे दिए वीडियो में भाजपा के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता मुख्तार अब्बास नकवी को क्रोध में दिमागी संतुलन खोते हुए “आप” के प्रतिनिधि को टीवी चैनल पर एक बहस के दौरान गालियों से नवाजते हुए देखा जा सकता है|

नरेंद्र मोदी का तथ्यपरक ज्ञान उनके इतिहास ज्ञान जैसा ही है और उनके भाषणों में अस्सी प्रतिशत बातें झूठ की बुनियाद पर खड़ी होती हैं| मोदी और भाजपा ने “आप” की वेबसाईट पर जिस नक्शे की बात की किस उसमें कश्मीर भारत के नक़्शे के साथ नहीं दिखाया गया, वह असल में आम आदमी पार्टी (AAP) की आधिकारिक वेब साइट (AamAadmiParty.org) पर नहीं बल्कि AapTrends.com का डोनेशन मैप था (AAP-Donation-Map-Just-India)…इस नक्शे में दिखाया गया है कि AAP को भारत के किन हिस्सों से चंदा मिल रहा है…जिन हिस्सों से चंदा नहीं मिल रहा उसे काले रंग से दिखाया गया है…|ManishGoa

पर मोदी और भाजपा इतने उतावले थे कि यह भी पता नहीं लगवा पाए कि AapTrends.com आम आदमी पार्टी (AAP) की आधिकारिक वेब साइट नहीं है… आम आदमी पार्टी (AAP) की आधिकारिक वेब साइट है AamAadmiParty.org …

नरेन्द्र मोदी लोगों की भावनाओं को भड़काने के काम में लगे हुए हैं और झूठ बोलना तो उनका प्रिय शगल है| कई बार उनके भाषण में झूठ की भारी मात्रा देख विचार उठता है मन में कि भारत कैसे ऐसे झूठे नेता को कल्पना में भी प्रधानमंत्री पद के योग्य नेता माँ सकता है? भारतीय सेना और पूर्व सैनिकों को भड़काने के कुत्सित प्रयास में मशगूल मोदी बागपत जाकर फिर सुविधानुसार भूल गये कि भाजपाई प्रधानमंत्री अटल वाजपेयी ने परवेज मुशर्रफ, जिसने कारगिल रचा और जिस युद्ध में बहुत बड़ी संख्या में भारतीय सैनिक मारे गये, को विशेष मेहमान बनाकर भारत बुलाया था और जबर्दस्त खातिरदारी से नवाजा था| आज का भाषण फिर सिद्ध करता है कि झूठ इस आदमी की राग राग में खून बन कर दौड़ रहा है| देश का दुर्भाग्य होगा अगर ऐसा आदमी संसद में पहुँच गया, ऐसे नेता का प्रधानमंत्री बनना तो भारतकी साख एकदम ही गिरा देगा|

“आप” पर कांग्रेस,  भाजपा और मीडिया के हमले जारी हैं पर देश भर में जगह जगह उसे जनता हाथों हाथ ले रही है| और भीड़ केवल दिल्ली में ही “आप” के समर्थन में नहीं है बल्कि हर जगह उसे अच्छा समर्थन मिल रहा है| लुधियाना की सभा की झलक नीचे दिए चित्र से स्पष्ट है|

AAP Ludhiyana

अरविंद केजरीवाल ने तीस मार्च को चंडीगढ़ में रोड शो किया और जनसमूह के उत्साह की झलक चित्र से ही मिल जाती है|

Arvind@Chandigarhछात्तीसगढ़ के बस्तर में सबसे गरीब उम्मीदवार आदिवासी वर्ग की सोनी सोरी, जो पुलिस द्वारा उत्पीडन किये जाने के कारण देश भर में एक चर्चित नाम है,  एक जनसभा को संबोधित करते हुए

soni sori

MapBJP

%d bloggers like this: