Posts tagged ‘Haramkhori’

दिसम्बर 29, 2010

हरामखोरी … (ग़ज़ल – रफत आलम)

 

बेईमान शाहों से सीनाज़ोरी करें
क्यों ना हम भी टैक्स चोरी करें

घोटाला सरकार की नसीहत है
जैसे हो सब रिश्वतखोरी करें

कमीशन पक्का है मीडिया वालो
बेईमान की हिमायत फोरी करें

सफाई फंड को पूरा डकार कर
पावन गंगा को गन्दी मोरी करें

यूँ भी तो लूटा जा रहा है देश
आओ हम भी हरामखोरी करें

खाकर पीकदान बना दें देश को
चबा के पान की गिलोरी करें

इन देशखोरों से उनकी तौबा
बराबरी इनसे क्या अघोरी करें

चुनाव जीतें हम लूटे  माल से
काली करतूतें अपनी गोरी करें

सज़ा यहाँ किसी को मिलती नहीं
सब बेरोजगारों से कहो चोरी करें

बकवास अपनी बंद कर ’आलम
या खोपड़ी हम तेरी कोरी करें

(रफत आलम)

टैग: , ,
%d bloggers like this: