Archive for ‘क्विज’

जून 11, 2010

हिन्दी सिनेमा के अभिनेता : क्विज

[1] नायक के रुप में अपनी पहली ही फिल्म में इन्हे उत्कृष्ट अभिनय के लिये
राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया परन्तु इन्होने सत्तर के दशक के एक सुपर स्टार
की एक फिल्म में दो मिनट से भी कम समय का एक शराबी का रोल भी
किया था, बाद में ये भी सुपर स्टार रहे। ये कौन हैं? चाहें तो उपरोक्त्त
दोनों फिल्मों के नाम भी याद कर लें।

[2] इन्होने अधिकतर हास्य उत्पन्न करने वाले रोल्स ही किये परन्तु निजी जीवन
में ये हॉरर फिल्मों के दीवाने थे। इन्होने फिल्में बनायी भीं और निर्देशित भी
कीं, इन्होने एकाधिक शादियाँ कीं और कुछ फिल्मों में इन्होने अपनी पत्नी के
साथ भी काम किया। इन्होने एक ऐसी फिल्म में काम किया था जिसमें फिल्म
का नायक इन्हे जिस नाम से पुकारता था वह नाम बाद में इनका एक
निकनेम बन गया। बाद में एक भारतीय विश्व सुंदरी को लेकर इस नाम
के शीर्षक वाली एक फिल्म बनी।

[3] इन्होने लगभग पाँच साल की अवधि के अंदर ही एक ही अभिनेत्री के पति,
प्रेमी, पिता और ससुर का रोल अलग अलग फिल्मों में किया।

[4] इन अभिनेता ने अपनी पहली फिल्म में कुछ मिनटों की अवधि वाली भूमिका
निभाई। इस फिल्म की अभिनेत्री को अभिनय तो नहीं परन्तु एक दूसरे ही
क्षेत्र में किये कार्य के कारण अंतर्राष्ट्रीय ख्याति का पुरस्कार मिला और और
अब ये और अभिनेता दोनों ही अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शख्सियत हैं।

[5] इन अभिनेता को एक अंतर्राष्ट्रीय फिल्म में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति वाले व्यक्ति की
भूमिका, ऑडिशन देने के बावजूद निभाने को नहीं मिली पर ड्रामा और फिल्म
स्कूल में ट्रेनिंग के समय से ही वे दिल्ली के रहने वाले एक प्रसिद्ध
ऐतिहासिक व्यक्ति का रोल करना चाहते थे और उन्हे वह रोल मिल ही गया
हालाँकि वह रोल एक प्रसिद्ध टीवी सीरियल में निभाने को मिला। बाद में एक
फिल्म में उन्हे वह रोल भी करने को मिल गया जो उन्हे अंतर्राष्ट्रीय फिल्म में
नहीं मिल पाया था।

[6] इन्होने और देव आनंद की एक फिल्म से शुरुआत करने वाले एक
अभिनेता ने एक ही शीर्षक और विषय वाली दो फिल्मों में एक जैसा चरित्र
निभाया। इन्होने सिर्फ एक ही फिल्म का निर्देशन किया और उस फिल्म को
अमिताभ बच्चन और हेमा मालिनी अभिनीत एक हिट फिल्म के लिये एक
प्रेरणा स्त्रोत माना जा सकता है।

[7] ये अकेले ऐसे भारतीय अभिनेता रहे जिन्हे अंतर्राष्ट्रीय स्तर का एक पुरस्कार
एक रोचक श्रेणी में दिया गया। वैसे इन्होने एक बार ऐसा काम भी किया जो
दिवंगत अमजद खान द्वारा किये गये एक प्रसिद्ध काम से सम्बंध रखता था।

[8] इनमें और हॉलीवुड के एक एक्शन फिल्म स्टार, जिनकी लिखी एक फिल्म
का ऑस्कर में नामांकन हुआ था, में एक समानता है। इनके माता पिता,
मामा और जीजा भी फिल्मों से सम्बंधित रहे हैं।

[9] इन अभिनेता के फिल्मी जीवन में और हॉलीवुड के स्टार्स मार्लन ब्रांडो,
डस्टिन हॉफमैन के फिल्मी जीवन में कुछ एक जैसा है।

[10] इन्होने भारत के एक जाने माने अभिनेता के साथ सिर्फ दो ही फिल्मों में
काम किया। पहली फिल्म में वे प्रसिद्ध अभिनेता के भाई बने और दूसरी में
दोस्त और दुश्मन दोनों बने। इन्होने मुंशी प्रेमचंद की कहानी पर बनी एक
फिल्म में भी काम किया।

[11] सालों एक मशहूर अभिनेता रहने के बाद इन्होने अपने द्वारा निर्देशित पहली
फिल्म में भारत की एक दुश्मन देश के साथ लड़ाई को पृष्ठभूमि में रखा और
उसमें नायक की भूमिका भी निभाई। एक निर्माता और निर्देशक के रुप में ये
समसामायिक विषयों पर फिल्में बनाने के लिये प्रसिद्ध रहे। अपने द्वारा
निर्मित दो फिल्मों में इन्होने गेरुये वस्त्र धारण किये।

मई 17, 2010

हिन्दी साहित्य : एक क्विज

1)  “दुख भांजता ही नहीं वरन मनुष्य का शोधन भी करता है“। किस प्रसिद्ध   लेखक  ने अपने किस प्रसिद्ध उपन्यास की प्रस्तावना से भी पहले यह सूत्र वाक्य

प्रस्तुत किया?


2) ” प्रेम कहानियों की घनघोर पाठिका, अपनी पत्नी के अनुरोध पर एक उपन्यास अधूरा छोड़ कर यह प्रेम उपन्यास लिखने बैठ गया “। ऐसा लिखते हुये

किस  प्रसिद्ध लेखक ने किस प्रसिद्ध उपन्यास को अपनी पत्नी को समर्पित किया?


3) “दिन भर तो मैं तो काम में लगा रहता था पर जैसे जैसे शाम करीब आने     लगती मेरे अंदर एक हूक सी उठने लगती और मैं शाम चार बजे से

तैयार होना, नहाना धोना शुरु करता था ताकि वेश्याओं की तरह शाम को बाजार में महफिल सजा सकूँ“। किस प्रसिद्ध लेखक ने किस प्रसिद्ध पुस्तक में

ऐसा (लगभग) वाक्य लिखा?


4) “सीटी फिर बोली सुनो मेरे मन हारो मत दूर कहीं लोग जीवित हैं यात्राऐं करते  हैं मंजिल है उनकी” यह किस प्रसिद्ध लेखक की कविता की अंतिम पंक्तियाँ हैं?


5) “किस्मत की खूबी देखिये टूटी कहाँ कमंद, दो चार हाथ जब के लबे बाम रह गया ” किस प्रसिद्ध लेखक ने अपने किस प्रसिद्ध उपन्यास में इस कविता का

उपयोग किया?


6) “भय की चरम सीमा ही दुस्साहस है” किस प्रसिद्ध लेखक ने इस तरीके से भय और साहस की विवेचना अपनी कहानी या उपन्यास में की?


7) “ कोई साला मादर…. यहाँ गालियाँ नहीं देगा “। किस प्रसिद्ध लेखक ने अपने  किस प्रसिद्ध उपन्यास में ऐसे वाक्य को अपने एक पात्र से कहलवाया?


8)  “आज एक छोटी सी बच्ची आयी किलक मेरे कँधे चढ़ी, आज मैने आदि से अंत  तक एक गान पूरा किया” ये पक्तियाँ किस प्रसिद्ध कवि की कविता की  हैं?


9) ” पर नहीं बंधा सीमाओं से मै सिसक रहा हूँ मौन विवश ” पक्तियाँ किस प्रसिद्ध  कवि की एक प्रसिद्ध कविता से ली गयी हैं?


10) “मै अपनी राह ढ़ूँढ़ लूँगी, नहीं मिली तो बना लूँगी, मुझे राह खोजना आता है”  किस प्रसिद्ध कवियित्री ने अपनी कविता में इन पंक्तियों को लिखा।


11) A Lad there is, and I am that poor groom, That is  Fallen in love, knows not with whom”  किस प्रसिद्ध  लेखक-कवि की

यह कविता है और किस अन्य प्रसिद्ध लेखक ने इस कविता का उपयोग अपने किस उपन्यास में किया ?

[ नोट: हो सकता है ऊपर कोट की गयीं कोई कोई पक्त्तियाँ मूल वाक्यों या कविताओं की पंक्त्तियों से शब्दश: न मिलती हों क्योंकि याददाश्त के सहारे इन्हे यहाँ प्रस्तुत किया गया है ]

मई 5, 2010

भारतीय राजनीति : एक क्विज

क्या आप पहचान सकते हैं कि प्रत्येक प्रश्न के पीछे कौन सा नाम/व्यक्ति छुपा है?

(1) बी एच यू में पढ़ने के दौरान फीस बढ़ने के विरुद्ध इन्होने छात्र आंदोलन का नेतृत्व किया और बाद में बरसों राष्ट्रीय राजनीति में शिखर पर रहे।

भारत  सरकार की दमनकारी नीतियों का विरोध किया और कुछ माह जेल में रहे और वहाँ डायरी लिखी जो बाद में प्रकाशित हुयी और इस पुस्तक को

काफी प्रसिद्धि मिली।

(2) देश के प्रधानमंत्री द्वारा संसद में किसी खास परिस्थिति पर बयान देने पर इन्होने अपने गंजे सिर की और इशारा करते हुये कहा कि यहाँ भी कुछ नहीं उगता तो क्या इसका कोई महत्व नहीं है?

(3) देश के प्रधानमंत्री से मतभेद होने पर क्षुब्ध होकर उनके खिलाफ राजनीतिक लड़ाई लड़ते हुये इन्होने निम्नलिखित कविता लिखी।

तुम मुझे क्या खरीदोगे, मै बिल्कुल मुफ्त हूँ

(4)मैं जब उनसे मिलने प्रधानमंत्री निवास गया तो वे फर्श पर बैठे अपना काम करने में तल्लीन थे और मुझे ऐसा लगा  जैसे देश का कोई किसान बैठा

कुछ कर रहा है ” किसने ये किसके बारे में कहा था।

(5) किस भारतीय प्रधानमंत्री ने एक अंतर्राष्ट्रीय टीवी पर साक्षात्कार देते समय कहा, “क्या हम जनसंहार होने दें, उन्हे महिलाओं को उनके घर वालों के

सामने बलात्कार करते रहने दें। आप मुझे एक बात बताऎं जब हिटलर जर्मनी में यहूदियों के सफाये में लगा हुआ था तो क्या यूरोप और अमेरिका

आदि हाथ पर हाथ रखॆ बैठे रहे कि उसे कुछ भी करने दो“?

(6) किस मानव संसाधन मंत्री ने आई आई टी शिक्षण संस्थानों की आलोचना की और खास तौर पर देश में काम न आने वाले शोध कार्य को लेकर?

(7) किस भारतीय नेता को उनकी युवावस्था (तब वे राजनीति में नहीं थे) में फिल्म अभिनेता महमूद ने एक एयरपोर्ट पर अपनी अगामी फिल्म में काम

करने का प्रस्ताव दिया था|  वे उनकी असली पहचान नहीं जानते थे?

(8) कौन से स्वास्थ्य मंत्री थे जो संसद साइकिल पर सवार होकर जाते थे?

(9) ये लगभग सबसे बड़ी उम्र में केन्द्र में मंत्री रहे और उम्र का प्रश्न उठने पर इन्होने समुद्र में नौसेना के दो जहाजों के बीच का रास्ता रस्से पर लटक कर तय किया।

(10)वतन को माँ को प्यार करने वाले जज्बे से ज्यादा लैला को

दीवानगी  की हद तक मोहब्बत करने वाले जज्बे की जरुरत है

किस नेता ने ये बयान दिया था जिस पर बहुत शोर मचा था?

(11)आइ हैव रिगेन्ड माय फ्रीडमकिस राष्ट्रीय राजनेता ने अपनी सरकार गिरने के बाद इस्तीफा देने के बाद कहा?

%d bloggers like this: