शुक्रवार का गठबंधन

‘हरामखोर को शुक्रवार की शाम चार बजे के आसपास पकड़ना, उसका कोई खैरख्वाह अदालत न जा पाए| फिर तो अदालत दो दिन के आराम में होंगी, तीन रातें तो हवालात में बिताएगा ही साला, वहाँ भी  खातिर तवाजोह ज़रा कायदे की हो जाए|’ नोटों का बंडल अखबार में लपेट कर देने वाले ने कहा|
हें हें हें …शुक्र का टोटका तो अंग्रेजों के जमाने से अजमाया हुआ नुस्खा है| ऐसा ही होता आया है, ऐसा ही होगा| लेने वाले ने बंडल लेटे हुए ठहाका लगाते हुए कहा|

 

सोमवार की भी फ़िक्र न करो, वहाँ भी टिकने नहीं देंगें| लंबा भेजेंगे अंदर सुसरे को| एक हफ्ता तो मानकर चलो, बेल न होने देंगें| हमें भी एडवांस दे दो आज ही|

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: