प्रेम भरे दो जीवन…

LoveStoryदोस्तों के आने से काफी पहले ही विक्टर रेस्त्रां पहुँच गया था| अंदर प्रवेश किया तो पाया कि पूरे रेस्त्रां में सिर्फ एक वृद्ध एक कोने में बैठा अकेले ही खा रहा था| थोड़ा नजदीक गया तो पाया कि उसने सामने मेज पर एक महिला की तस्वीर रखी हुयी थी और वह उस तस्वीर को लगातार देखते हुए खा रहा था|

विक्टर को लगा कि वृद्ध अवसाद से ग्रस्त है और तस्वीर में मौजूद महिला उसकी कोई खास रही होगी और शायद अब इस दुनिया में नहीं है और उसकी याद में वृद्ध दुखी है| उसने सोचा कि जब तक उसके दोस्त नहीं आते वह वृद्ध से बातें करके उसका मूड ठीक कर सकता है|

विक्टर वृद्ध के पास चला गया|

“माफ कीजिये, मैं थोड़ी देर आपके पास बैठ सकता हूँ?”

वृद्ध ने उसकी तरफ देखा, कुछ पल सोचा और कहा, “आओ बैठो यंगमैन”|

विक्टर ने तस्वीर की ओर इशारा करते हुए पूछा,” मेरा नाम विक्टर है| आप बड़े प्यार और दुख के साथ इस तस्वीर को निहार रहे थे, क्या यह  आपकी…?”

वृद्ध ने एक गहरी साँस लेते हुए कहा,” यह मेरी पत्नी की तस्वीर है| जेनिफर”|

“क्या अब वे आपके साथ नहीं हैं?”

“है तो साथ| मैं उसी के साथ हूँ”|

फिर आप इतने दुख से क्यों इस तस्वीर को देख रहे थे?

वृद्ध जैसे समय में कहीं खो गया|

“हम दोनों सत्रह साल के थे जब हम मिले| हमें एक दूसरे से प्यार हो गया| पर समय की करनी| युद्ध छिड़ गया था और मैं सेना में भर्ती हो गया| युद्ध के दौरान भी मैं उसी के बारे में सोचता रहता था| युद्ध के बाद मैं वापिस आया तो पाया कि उसका परिवार कहीं और चला गया था| मैंमें उसे तलाशने की बहुत कोशिश की पर किसी को उसके और उसके परिवार के बारे में नहीं पता था| दस साल मैं उसे खोजता रहा, किसी दूसरी युवती की और कभी आँख भर कर नहीं देखा, मिल कर बात करना तो दूर की बात है| लोग मुझे पागल कहने लगे| मैं उनसे कहता कि मैं वाकई पागल हो गया हूँ जेनिफर के प्यार में पागल!”

वृद्ध कुछ देर खामोश रहा तो विक्टर ने कुरेदा,”फिर?”

“मैं शहर शहर उसे खोजता रहा, जिस भी जगह जाता उसे खोजता| एक दौरे पर मैं केलिफोर्निया गया वहाँ एक सेलून में बाल कटवाते हुए मैं नाई से अपनी प्रेम कहानी और जेनिफर की खोज के बारे में बता बैठा| नाई सेलून में एक कोने में रखे फोन की तरफ गया और फोन पर अपनी बेटी से सेलून में आने को कहा|”

विक्टर के लिए वृद्ध की खामोशी एक पल के लिए भी अखर रही थी| उत्तेजना से भर उसने पूछा,” वही?”

वृद्ध की आँखों में चमक आ गई,” जेनिफर मेरे सामने खड़ी थी| उसने भी दस साल किसी युवक के साथ डेटिंग नहीं की| वह मेरा इंतजार करती रही| उसने अपने पिता और परिवार की एक नहीं सुनी और मेरा इंतजार किया|”

विक्टर को अपनी ओर उत्सुकता से देखता हुआ पाकर वृद्ध ने कहा'” मैंने वहीं जेनिफर के सामने विवाह का प्रस्ताव रखा और उसके सहमति देने पर उसके पिता से अनुमति ली| अगले ही दिन हमने विवाह कर लिया| पचपन साल हम लोग विवाह के बाद साथ रहे| ”

“अब कहाँ हैं जेनिफर”|

“पांच बरस हुए, उसे अपना शरीर छोड़े| पर मेरे साथ वह हरदम बनी रहती है|  मैं विवाह की वर्षगाँठ और जेनिफर का जन्मदिन हमेशा सेलिब्रेट करता हूँ| मैं हमेशा उसकी तस्वीर अपने साथ रखता हूँ| रत को उसकी तस्वीर को चूमकर उसे शुभरात्री कह कर सोता हूँ|”

“दस साल आप दोनों ने एक दूसरे का इंतजार किया? अगर केलिफोर्निया में भी आपको जेनिफर न मिलती और दस साल और गुजर जाते तो?”

तो क्या? मैं तो सारी उम्र उसे तलाशता| वह भी मेरा इंतजार करती”|

“वाह! मैंने आज तक ऐसी प्रेम कहानी नहीं सुनी”|

“ये कहानी नहीं है यंगमैन| हमारा जीवन है”|

अब तो लोग दो चार साल भी विवाह के बंधन में नहीं ठहर पाते| तलाक ले लेते हैं|

“हम दोनों के बीच बहुत बहसें होती थीं पर कभी भी कुतर्क नहीं चले| मैं कुछ बातें कहूँ तुमसे यंगमैन”|

“जी कहिये”|

“मैं बहुत धनी रहा, पैसे के कारण नहीं बल्कि प्रेम के कारण| अपनी पत्नी से रोज इस बात को जाहिर करो कि तुम उससे प्रेम करते हो| लोग जलती हुयी मोमबत्ती की तरह होते हैं| हवा का झोंका आकर लौ बुझा सकता है इसलिए जब तक प्रकाश है उसका भली भांति आनंद लो, उसका सम्मान करो|”

वृद्ध ने अपनी पत्नी की तस्वीर उठाते हुए कहा,” अब मैं चलता हूँ|  मेरी बातें याद रखना|”

 

 

 [ एक सच्ची कथा – परिवर्तित रूप में ]

Advertisements
टैग: , ,

One Comment to “प्रेम भरे दो जीवन…”

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: