Sylvester Stallone : प्रेरक प्रसंग

Rocky1Rocky और Rambo जैसी विश्व विख्यात फिल्मों के सर्जक हॉलीवुड के प्रसिद्द एक्शन स्टार Sylvester Stallone के चेहरे का एक हिस्सा जन्म से ही पैरालीसिस से ग्रस्त था| पर बचपन में  ही उनमें अभिनेता बनने की इच्छा घर कर गई थी और उन्होंने अपने सपने को पूरा करने के लिए न तो अपनी गरीबी के सामने नत-मस्तक हुए और न ही अपनी शारीरिक व्याधियों के सामने हार मानी और इसलिए न केवल चेहरे के निचले जड़ हिस्से बल्कि अस्पष्ट वाणी के बावजूद अभिनय के क्षेत्र में एक बड़ा सितारा बन कर दिखा दिया|

एक वक्त था जब गरीब Stallone अभिनय के क्षेत्र में प्रवेश पाने के लिए संघर्ष कर रहे थे| पत्नी के गहने, उससे पूछे बिना उन्होंने लिए और बेचे| इसी संघर्ष के दिनों में वे बेघर भी हुए| निराश्रय होने के बाद ऐसा वक्त भी आया जब कई दिनों भूखा रहने के बाद भी उन्हें काम नहीं मिला और  जीने के लिए विवश होकर उन्हें अपनी सबसे प्यारी वस्तु, शराब की दुकान के बाहर एक अजनबी को बेचनी पड़ी| उन्होंने अपना बेहद प्रिय कुत्ता $25 में बेच दिया और रोते हुए वहाँ से चले गये| उनके पास अपने कुत्ते को खिलाने के लिए कुछ खरीदने के पैसे नहीं थे| उस वक्त उन्हें यही सही लगा|

कुछ दिन बाद ही उन्हें Mohammed Ali और Chuck Wepner के बीच मुक्केबाजी का मुकाबला देखने का अवसर मिला और उस मुकाबले ने उन्हें प्रेरित किया और वे सप्ताहांत में बिना विश्राम किये कई घंटे लगातार लिखते रहे और जब उन्होंने काम बंद किया तो उनके पास एक फिल्म की स्क्रिप्ट थी|

उन्होंने फिल्म की स्क्रिप्ट बेचने की कोशिश की और उन्हें स्क्रिप्ट के बदले $125,000 का प्रस्ताव मिला| लेकिन स्क्रिप्ट बेचने के साथ उनकी एक मांग यह भी थी कि वे खुद मुक्केबाज की केन्द्रीय भूमिका निभाएंगे और स्टूडियो को यह मांग मंजूर नहीं थी और वे किसी बड़े सितारे को केन्द्रीय भूमिका में लेना चाहते थे|

स्टूडियो वालों ने उन पर टिप्पणी भी की कि वे अजीब दीखते हैं और अजीब ढंग से बोलते हैं|

Stallone अपनी स्क्रिप्ट के साथ वहाँ से चले आए| कुछ हफ़्तों बाद उसी स्टूडियो ने उन्हें उनकी स्क्रिप्ट के बदले $250,000 देने का प्रस्ताव रखा| Stallone ने अपनी पुरानी मांग दुहरा दी| स्टूडियो ने उनके मांग ठुकराते हुए उन्हें स्क्रिप्ट बेचने के बदले $350,000 देने का प्रस्ताव रखा जो कि एक कंगाल संघर्षरत अभिनेता के लिए खजाने से कम नहीं था पर Stallone ने इतनी बड़ी रकम का प्रस्ताव भी ठुकरा दिया| उनके मन में निश्चित था कि अगर उनकी स्क्रिप्ट पर फिल्म बनती है तो वे खुद मुख्य भूमिका निभाएंगे| उन्होंने स्टूडियो के सामने अपनी मांग स्पष्टता से रख दी|

कुछ समय बाद स्टूडियो ने ही घुटने टेके और उनकी मांग मान ली पर अब उनकी स्क्रिप्ट के बदले उन्हें सिर्फ $35,000 देने का प्रस्ताव दिया गया और उनकी इस मांग को स्वीकारा गया कि वे केन्द्रीय भूमिका स्वयं ही अदा करेंगे| इस तरह ROCKY फिल्म का जन्म हुआ और इसने इतिहास रच दिया|  फिल्म कई श्रेणियों में  Oscar पुरस्कारों में नामांकित हुयी और अंततः इसने Best Picture, Best Directing और Best Film Editing के लिए तीन Oscar जीते| ROCKY को American National Film Registry में सर्वकालिक महान फिल्मों की सूची में भी रखा गया है|

बात इसी सफलता के साथ खत्म नहीं होती| जो $35,000 Stallone को मिले थे स्क्रिप्ट बेचने पर, उससे पहला काम उन्होंने क्या किया? वे तीन दिन तक लगातार उस शराब की दुकान के बाहर खड़े रहे जहां उन्होंने अपना कुत्ता एक अजनबी को बेच दिया था और तीसरे दिन वह अजनबी उनके कुत्ते के साथ वहाँ आता दिखाई दिया| Stallone ने उस अजनबी को समझाना चाहा कि किन हालात में उन्हें अपना प्रिय कुत्ता बेचना पड़ा था और उन्होंने उस आदमी से प्रार्थना की कि वह उनका कुत्ता वापिस उन्हें बेच दे|  उस आदमी ने ऐसा करने से मना कर दिया| Stallone ने उसे $100 देने का प्रस्ताव दिया, उस व्यक्ति ने इसे ठुकरा दिया| $500 और उसके बाद $1000 का प्रस्ताव भी उस व्यक्ति ने ठुकरा दिया| अविश्वसनीय है पर Stallone को अपना कुता वापिस पाने के लिए उस व्यक्ति को $15,000 देने पड़े|

गरीबी अभिशाप है और यह आदमी को तोड़ देती है उसे अपने सपने पूरा करने से हर कदम पर रोकती है| जीवन बेहद कठिन होता है और गरीबी में तो और ज्यादा कठिन हो जाता है| अवसर सामने से निकल कर जाते हुए दिखाई देते हैं| लोग गरीब लेकिन गुणी आदमी का उत्पाद खरीदना चाहते हैं लेकिन उसे मौक़ा नहीं देना चाहते|

जीवन ऐसे मोड़ पर ले आती है जहां हर दरवाजा बंद दिखाई देता है, कोई राह कहीं पहुँचती दिखाई नहीं देती और लोग अपने सपने पूरा करने का ध्येय भूलकर पहला सबसे आसाना सा अवसर चुन लेते हैं और फिर जीवन भर सोचते रह जाते हैं कि काश उस समय आत्म-विश्वास दिखाया होता|

स्वयं से ज्यादा कोई नहीं जानता कि किसी व्यक्ति की काबिलियत क्या है?

“Let me tell you something you already know. The world ain’t all sunshine and rainbows. It’s a very mean and nasty place and I don’t care how tough you are it will beat you to your knees and keep you there permanently if you let it. You, me, or nobody is gonna hit as hard as life. But it ain’t about how hard ya hit. It’s about how hard you can get hit and keep moving forward. How much you can take and keep moving forward. That’s how winning is done!” ― Sylvester Stallone, Rocky Balboa

One Comment to “Sylvester Stallone : प्रेरक प्रसंग”

  1. बहुत सुन्दर, कई मायने में यह हम सब के लिए प्रेरक है

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: