अन्ना सोचो तो बताओ तो

मैं जनता हूँ
मुझमें और कसाई की भेड़ों में
बस इतना ही अंतर है,
भाषणों के बाजीगरों द्वारा
संवेदना की छुरियों से काटा जाता है मुझे।

मेरा पथप्रदर्शक ही असल पथभ्रष्ट हैं
उसका रास्ता सदा शहादतों को रौंधता हुआ
सत्ता सुख तक जाता है।

हर आंदोलन में ठगा जाता है
स्वप्निल दुनिया में जीने वाला मध्यम वर्ग
या फिर सर्वहारा शोषित
समाज की यही भीड़
ज़मीनी वास्तविकताओं से दूर
असम्भव को संभव बनाते वादाफरोशों की
सबसे बड़ी शिकार है।

कोई हो तो बताओ
आंदोलनो, क्रान्तियों या इन्कलाबों से
सत्ता परिवर्तन के सिवा क्या हुआ है?
जनता का कितना भला हुआ है?

समय के गुलाम उत्तेजित हालात
नियति के धारे में जाने कब बह जाते हैं
न भूख की तस्वीर बदलती है, न प्यास की सूरत।

अन्ना हो कि कोई दूसरा मसीहा
हालात में बदलाव के सूत्रधार
आंदोलनों के बेक़सूर औजार
ज़हर के प्यालों, सूलियों या गोलियों के शिकार
चौराहों पर पत्थर के बुत बना दिए जाते है।

कबूतरों का वास बन कर
बीटों में सड़ते रहते है बेचारे
बाकी कुछ भी नहीं बदलता
कैलेण्डर के पन्नों के सिवा।

(रफत आलम)

7 टिप्पणियाँ to “अन्ना सोचो तो बताओ तो”

  1. ”सरकार की बलि चढ़ा देनी चाहिए” क्‍या सचमुच यह अन्‍ना का वक्‍तव्‍य है.

  2. श्रीमान, मेरे लिखे में ऐसा बयान कहाँ है .

  3. समय के गुलाम उत्तेजित हालात
    नियति के धारे में जाने कब बह जाते हैं
    न भूख की तस्वीर बदलती है, न प्यास की सूरत।

  4. Actually, I did not like the post, as it just happened while I wast testing the like feature of wordpress.com. However, I certainly agree that Anna Hazzare has contributed a lot for the betterment of India.

  5. आन्दोलन स्वयं से शुरू करना होगा जनता को … जागरूक करने वाली प्रस्तुति

  6. आंदोलनो, क्रान्तियों या इन्कलाबों से
    सत्ता परिवर्तन के सिवा क्या हुआ है?

    सच्चाई को छूती मर्मस्पर्शी भावाभिव्यक्ति ……

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: