पत्थर नहीं हीरा बन

जिंदगी की ठोकरों से
घबरा कर
पत्थर न बन यार!

तेरे भीतर छिपा है हीरा
तलाश उसे
तराश उसे।

माना बहुत लंबा है
सडक पर लुढ़कते फिरने से
मुकुट की शोभा बनने तक का सफर।

बुद्धि और बदन को कठोर कर
हाथ की लकीरों को रोने वाले
उठा हाथ में
कलम हो के कुदाल
पसीने की नदी में बहकर ही
सफलता के सागर की मिलती है थाह।

याद रखना
बिना तपे
सोना निखरता कब है
भीतरी आग अगर नहीं होती
सूरज रात बना रहता।

कटने-छटने-सँवरने की पीड़ा में ही
छिपा है
पत्थर से हीरा बनने का राज़
जिसकी  कुंजी
तेरी पहुँच से दूर नहीं!

(रफत आलम)

Advertisements

6 टिप्पणियाँ to “पत्थर नहीं हीरा बन”

  1. बिना तपे सोना निखरता कब है
    भीतरी आग अगर नहीं होती सूरज रात बना रहता।

    बहुत अच्छी पंक्तियां हैं।

  2. आभार बेहतरीन रचना पढ़वाने का..

  3. ”बुद्धि और बदन को कठोर कर
    हाथ की लकीरों को रोने वाले
    उठा हाथ में
    कलम हो के कुदाल
    पसीने की नदी में बहकर ही
    सफलता के सागर की मिलती है थाह।”
    आदरणीय रफत साहब,
    एक प्रेरित करती रचना को पढ़ना बहुत ही सुखद लगा.
    आपकी रचनाएं नियमित पढने को मिलती रहेगी,ऐसा विशवास रखता हूँ.
    सादर.
    –अशोक पुनमिया

  4. जनाब राकेश साहिब बहुत शुक्रिया

  5. जनाब समीर लाल साहिब, बहुत शुक्रगुजार हूँ के आपने अपने कीमती समय में से कुछ वक्त नाचीज़ के लिए निकाला .होसला मिला है आपकी टिपण्णी से.

  6. जनाब अशोक साहिब ,जी चाह रहा है आप की टिपण्णी से गले मिलूँ अरसा हुआ उस चमन से निकले जहाँ कभी बहार थी .आप यहाँ तशरीफ़ लाये बहुत तस्सली मिली शुक्रगुजार हूँ .आपको पता है नाचीज़ ने कभी अपने कवि /शायर होने को गुमान भी नहीं किया है ये अहसास की कोई जलन लिख वाती है वो सब कुछ जो मैं लिखता हूँ जिसका फन /तरीका भी मुझे पता नहीं .फिर भी आप जेसा कोई कद्रदान नज़रसानी करता है तो दिली खुशी होती है .बहुत शुक्रिया आपका.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: