About

जब जाना तो ये जाना कि न जाना कुछ भी

मनीषी स्वार्थ साधने अर्थात स्व: + अर्थ (स्वयं का अर्थ) को जानने को सबसे बड़ी खोज कह गये हैं और एक कलाकार या लेखक अपनी सूक्ष्म द्रूष्टि द्वारा जीवन में या जीवन के विभिन्न अर्थ खोजने की चेष्टा करता है। पर उसके लिये भी स्वयं को ही खोजना प्रथम और सबसे महत्वपूर्ण कार्य है।
कलाकार को अध्यात्म के खोजी साधक की भाँति स्वयं के अंदर डूबकियाँ लगानी ही पड़ती हैं। बाहर ही बाहर और दूसरों पर ही अपनी खोजी दृष्टि रखकर कलाकार का कला कर्म बहुत लम्बे समय तक जीवित नहीं रह सकता। जो स्वयं के जीवन का ही अर्थ नहीं जानता वह कैसे दूसरों के जीवन में अर्थ ढ़ूँढ़ सकता है?

जीवन और कला का आपस में एक अन्तर्निहित सम्बन्ध है। दोनों एक दूसरे पर निर्भर हैं। कला यदि जीवन के कारण अस्तित्व में आती दिखायी देती है तो यह बदले में जीवन को संवारती है, उसे निखारती है, उसका शोधन करती है और उसे बेहतर बनाती है।

सम्पर्क  :  swaarth [at] gmail [dot] com

3s टिप्पणियाँ to “About”

  1. मैं अरविंद शेष हूं। आपसे संपर्क का सिर्फ यही रास्ता नजर आया।
    मैं जनसत्ता हिंदी अखबार में संपादकीय पृष्ठ पर हूं। इस पर रोजाना साभार छपने वाले स्तंभ समांतर के लिए अच्छे ब्लॉग की सामग्रियां निकलता हूं। आपके ब्लॉग पर आया और लगभग सभी सामग्रियां बेहतरीन लगीं। समांतर स्तंभ के लिए लेना चाहता हूं। लेकिन इसमें लेखक के नाम की जगह केवल स्वार्थ लिखा है।

    क्या आप अपना नाम बता सकते हैं, जिससे आपके किसी एक आलेख समांतर के तहत प्रकाशित कर सकूं
    आभारी रहूंगा…

    अरविंद शेष
    जनसत्ता (हिंदी दैनिक)
    संपादकीय विभाग

  2. जान कर सच में ख़ुशी हुई कि आप हिंदी भाषा के उद्धार के लिए तत्पर हैं | आप को मेरी ढेरों शुभकामनाएं | मैं ख़ुद भी थोड़ी बहुत कविताएँ लिख लेता हूँ | हाल ही में अपनी किताब भी प्रकाशित की | आप मेरी कविताएँ यहाँ पर पढ़ सकते हैं- http://souravroy.com/poems/

  3. राजी ख़ुशी जीवन को समझने और आनंद ख़ुशी से जीने के उपाय पर केन्द्रित पत्रिका है. स्वार्थ पर आकर लगा की आप की मदद से यह माध्यम बनी रह सकती है. अनुरोध है अनुमति दे प्रकाशन के लिए. और यह भी की क्या आपका नाम बता देंगे या स्वार्थ को ही स्रोत के लिए उपयोग करना होगा. सदर.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 86 other followers

%d bloggers like this: